ROLE OF THE EXECUTIVE

GITA WISDOM # 31 उद्धरेदात्मनाऽत्मानं नात्मानमवसादयेत्‌।आत्मैव ह्यात्मनो बन्धुरात्मैव रिपुरात्मनः॥ ( आत्म-उद्धार के लिए प्रेरणा और भगवत्प्राप्त पुरुष के लक्षण ) अपने द्वारा अपना संसार-समुद्र से उद्धार करे और अपने को अधोगति में न डाले क्योंकि यह मनुष्य आप ही तो अपना मित्र है और आप ही अपना शत्रु है॥5॥ The chief executive shall endeavour toContinue reading “ROLE OF THE EXECUTIVE”