B +Ve !!

A site for all positive thinkers to grow together !


Leave a comment

नया साल (NEW YEAR)

Great thoughts!

The Golden Moon's Poetry

बीत गया वो साल गया
देखो फिर नया साल आया है
फिर सर्दियों के महीनों में
हर्ष और उल्लास आया है
कुछ साथी संग के छूट गए
कुछ अपने थे जो रूठ गए
कुछ अनजाने थे वो जुड़ गए
यूं ही खट्टे मीठे अनुभव लाया है
बीत गया वो साल गया
देखो फिर नया साल आया है,

हर तरफ उत्साह , धूम मची है
पुराने पलो की याद छिडी है
नए उमंगों संग, नए सपने ये लाया है
बीत गया वो साल गया
देखो फिर नया साल आया है

तू भूल मत पिछला अपना
क्या सीखा तूने, क्या पाया है
वो अनमोल रत्न तेरे अनुभव
तेरे भाग्य के कुछ अनकहे संकल्प
नए अनुभव के साथ ये फिर
नया साल आया है
बीत गया वो साल नया
देखो फिर नया साल आया है

गिर कर उठना ,उठ कर गिरना
तू चलते चलना राही निडर
जीवन तो निरंतर चलना है
रुक कर…

View original post 50 more words