EXECUTIVE STRESS

GITA WISDOM # 70Chapter 3 Verse 19 तस्मादसक्तः सततं कार्यं कर्म समाचर।असक्तो ह्याचरन्कर्म परमाप्नोति पुरुषः॥ श्लोक 19 – अध्याय 3 – कर्मयोग इसलिए तू निरन्तर आसक्ति से रहित होकर सदा कर्तव्यकर्म को भलीभाँति करता रह क्योंकि आसक्ति से रहित होकर कर्म करता हुआ मनुष्य परमात्मा को प्राप्त हो जाता है ॥19॥ An executive who dischargesContinue reading “EXECUTIVE STRESS”