B +Ve !!

A site for all positive thinkers to grow together !


2 Comments

युद्ध से नफरत कर

The Horizon

युद्ध विनाश है
इससे नफरत कर
सभ्यताओं का करे सर्वनाश
जिसे रखा युगों से संजो कर
युद्ध कोई जवाब नहीं
है ये एक सवाल
टाल सिर पर लटकी
युद्ध की तलवार
भला न तेरा, भला न मेरा
फिर क्यों करता
ये भी मेरा, वो भी मेरा ?
मोहब्बत से जीत सकते
हैं हर युद्ध अगर
फिर क्यों तू बनाता
बैठ हथियार रात भर
शुरू या अंत में युद्ध समाप्त होता
जब हाथ मिला, हस्ताक्षर कर
तुम्हारे निशाने पर है कोई अगर
तुम भी हो किसी के निशाने पर
बर्बाद कर पृथ्वी को
खुद खड़े बर्बादी के मुहाने पर
इस धरती का क्या दोष
मासूमों का क्या दोष
सांसारिक वस्तुओं खातिर
जीवन दाँव पर लगा
कहाँ खोया हमने अपना होश
जीते तो हम अपनों के लिए हैं
वरना जानवर भी क्या कम हैं
अपने ही हाथों खोदनी पड़ती
अपनों की कब्र है
इस धरा पर सब
धरा रह जाना है
तेरा…

View original post 114 more words